निसान का शक्ति प्रदर्शन #NissanSUVHeritage

निसान, भारत के उन कार निर्माताओं में से एक, जिनके पास अच्छी गाड़िया तो रही है लेकिन वो अभी तक भारत के बाजार में एक मजबूत पकड़ नहीं बना सके है। निसान के पास SUV की एक बड़ी धरोहर है। हालाँकि भारत में हमे वो देखने को नहीं मिलती इसलिए निसान ने हमे न्योता दिया #NissanSUVHeritage ड्राइव का। इस ड्राइव को एक तरह से आप Nissan के द्वारा किया गया शक्ति प्रदर्शन कह सकते हो।

कुछ तथ्य निसान के बारे में।

निसान को भले ही भारत में बड़ी सफलता नहीं मिली है लेकिन ये किस्सा दुनिया के बाकी देशो में अलग है। कैसे?

  • निसान-रीनॉल्ट-मित्शुबिशी दुनिया की सबसे बड़ी कार निर्माता अलायन्स है।
  • 2016 में तीसरे, 2017 में दूसरे, 2018 में मित्सुबिशी के अधिग्रहण के बाद पहले पायदान पे गयी है।
  • पिछले कुछ सालो में SUV की बढ़ती मांग का फायदा Nissan को मिला है क्योंकि निसान SUV के बाजार में विश्व पटल पे एक बड़ा नाम है।
  • मिडिल ईस्ट जिनमे अधिकतर खाड़ी देश आते है वहा निसान की बड़ी शानदार गाड़िया दिखना एक आम बात है।

#NissanSUVHeritage ड्राइव के बारे में।

शक्ति प्रदर्शन हुआ UAE के दुबई शहर में। हमे निसान ने दुबई इसलिए बुलाया क्योंकि निसान का एक बड़ा दबदबा है उस बाज़ार में। अगर आप कभी दुबई गए हो तो आपने भी देखा होगा की निसान की ऐसी ऐसी गाड़िया दौड़ती है जो आपने नहीं सुनी होगी। चुकी ये एक SUV ड्राइव थी तोह आगे अब उसकी ही बात करेंगे।

पहला दिन।

  • 12 सितम्बर को 11 बजे दुबई पहुंचे और होटल जाते समय ही दुबई की शानदार सड़को पे गाडी दौड़ने का मन करने लगा।
  • 1 बजे होटल में सब इकठ्ठा हुए और हमे जानकारी दी गयी की कैसे निसान 70 सालों से इस SUV सेगमेंट में है और आगे बढे जा रहा है।
  • हमे बताया गया की हम उन दो दिनों में निसान की Pathfinder, X-Trail, Patrol व Kicks चलाएंगे।
  • Kicks नाम सुनके आपको भी अपनापन लगेगा लेकिन आपको बता दे जो Kicks हम चलाने वाले थे वो दरअसल एक अलग किक्स थी। भारत में आने वाली Kicks थोड़ी बड़ी होगी और 1.5 डीजल Engine के साथ भी होगी।
  • हमे जानकारी मिली की निसान अपनी Kicks को January 2019 में बाजार में उतारेगा। (कुछ सूत्रों से ये भी पता चला है की अक्टूबर में इसे सबको दिखा दिया जाएगा)
  • 3 बजे सभी अपनी अपनी गाड़िया लेकर निकले 80 किलोमीटर का सफर तय करने और Sand Dunes में Dune Bashing करने।
  • मुझे चलने को मिली निसान Kicks.
  • Nissan Kicks Photo
  • UAE की विश्वस्तरीय सड़के और Kicks का कमाल 118 hp वाला 1.6 पेट्रोल इंजन। बस मज़ा सा आ गया।
  • भारत में 100 से अधिक चलना एक गुनाह है लेकिन UAE की 140 की गति सीमा की वजह से किक्स को और बेहतर तरीके से टेस्ट करने का मौका मिला।
  • जो किक्स मैंने चलायी वो एक क्रॉसओवर कही जा सकती है और अगर उसे भारत में कभी उतार दिया जाए तो बेहद ही मजबूत प्रोडक्ट साबित होगी।

रेगिस्तान में शक्ति प्रदर्शन।

अब बारी थी वो करने की जो लोग आम तौर पे Dubai आकर करते ही है। Dune Bashing. लेकिन हम सिर्फ पैसेंजर बनकर मज़े नहीं लेंगे बल्कि गाडी चलाकर पूरा आनंद लेंगे।

रेतीले रास्तो पर गाडी चलाने से पहले हवा का प्रेशर काम किया गया सभी पहियों में से, इससे गाडी की पकड़ बढ़ती है। और फिर शुरू हुआ 1 घंटे का मज़ेदार सफर या सही मायनो में कहुँ तो सफारी। हम सभी अब निसान की “Hero of All Terrain” Patrol में थे।

Patrol एक 5.6 L के V8 इंजन के साथ आती है जो 400 bhp और 560 nm का टार्क देता है। हालाँकि ये 7 सीटर SUV भरी भरकम है लेकिन इतने बड़े इंजन को कोई परेशानी नहीं होती इसे किसी भी जगह पे खींचने में।Nissan Patrol

करीब एक घंटे तक Patrol को रेट में हर संभव चलाने के बाद हम वापिस लौटे अपने बेस पे। अब हमे वापिस जाना था गाड़िया बदल के। चुकी में आया Kicks में था तो अब मुझे कोई और गाडी मिलनी थी। मेरी किस्मत अच्छी रही और मुझे Patrol ही मिली चलाने को।

हाईवे पे रात के समय अगर आप किसी गाडी को पुरे विश्वास के साथ 130 किमी प्रति घंटा की गति से चला पा रहे हो तो उस गाडी की ना ही हैंडलिंग पे शक होना चाहिए और न ही पकड़ पे। हालाँकि बॉडी रोल काफी था वह लेकिन जिस कद काठी की Patrol है, बॉडी रोल लाजमी था।

दूसरा दिन।

मेरे होटल के कमरे से बुर्ज खलीफा का शानदार नज़ारा दीखता था।  रात को में कुछ और दोस्तों के साथ बाहर टहलने गया था और मन किया की बुर्ज खलीफा के ऊपर जाके देखेंगे दुबई कैसा दीखता है, लेकिन अफ़सोस, दुबई में किसी पब्लिक हॉलिडे के कारण हम वह नहीं जा सकते थे। खेर दूसरे दिन के लिए निसान ने कुछ अच्छा प्लान कर रखा था। हम जा रहे थे दुबई फ्रेम।

चुकी में Kicks और Patrol का मज़ा ले चूका था, मुझे अब चलाने को मिलने वाली थी Pathfinder व X-Trail. Pathfinder जो है उसे आप Patrol से कम दर्ज़े की कार समझे। हालांकि ये भी एक 7 सीटर SUV है जिसे चलाने में Patrol  जयादा मज़ा आता है लेकिन इसमें उतनी Off road की क्षमता नहीं नहीं जितनी Patrol में थी। 3.5 L के पेट्रोल इंजन के साथ इसमें 4*4i का ऑप्शन मिलता है जो सड़क की स्थिति के हिसाब से अपने आप ही सबसे सही ड्राइव मोड चुन लेता है। इस गाडी में एक और इंजन ऑप्शन आता है, 2.5 L का Supercharged इंजन हाइब्रिड टेक्नोलॉजी के साथ।  हालांकि वो इंजन मुझे चलाने को नहीं मिला लेकिन अगर आपको कभी मौका हो तो उसे जरूर चलना।

दुबई फ्रेम मुझे काफी रोचक चीज़ लगी। बाहर से देखने में ये एक दुनिया की सबसे बड़ी फोटो फ्रेम सी दिखती है। अंदर जाओ तो आप पाओगे की ये दरअसल दुबई के भूत, भविस्य व वर्तमान की झलक देने के लिए बनाया है। बेहद सुन्दर।

दुबई फ्रेम से वापिस लौटते वक़्त मुझे चलाने को मिली निसान की वो गाडी जो भारत में भी बिकती थी, Nissan X-Trail. X-Trail एक बेहद सुलझी हुई कार है। 2.5 L के इंजन के साथ ये गाडी एक 2WD कार है लेकिन हैंडलिंग के मामले में सबसे कमाल। इस गाडी को फिरसे भारत में उतारना चाहिए।Nissan XTrail

अब वक़्त हो चला था सभी गाड़ियों को अलविदा कह के वापिस भारत लौटने का। 2 दिन में जो भी कुछ देखा सुना चलाया उस से ये तो साबित होता है की निसान की दुनिया के कई बाज़ारो में एक मजबूत पकड़ है। साथ ही निसान अब भारत में बढ़ रहे SUV प्रेम के कारण लोगो की पसंद बन सकता है।

5 COMMENTS

  1. Bhai article bahut accha laga. Sach me yaha middle east me Nissan ki acchi pakad hai market par. Patrol inki one of the best car hai lekin safari ko bhi bahut pasand kiya jata hai off roading k liye. Nissan ki ek alag hi pehchan hai yaha.

Leave a Reply